Author: Rashmi S Dubey

क्या टैगोर भी रहे फ़िल्म जगत का हिस्सा ?

साहित्य कृतियों का इतिहास के पन्नो से सीधा पर्दे पर उतरते देखना एक कलाकार के लिए अभूति से कम नहीं माना जाता है । ऐसे मे रविंद्र नाथ टैगोर के द्वारा लिखित साहित्य पर फिल्मों का बनना फिल्म जगत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। भारत को उनका जन-गण-मन देने वाले रविंद्र नाथ टैगोर के न जाने कितने अभिलेख अभी पर्दे पर उतरने बाकी है ।

Read More »

जानिए संघर्ष की कहानी:-15 वर्ष की आयु में तय किया नोबल पुरस्कार का सफ़र।

वर्तमान में मलाला युसुफ़ज़ई किसी परिचय कि मोहताज़ नहीं है। जिस उम्र में बच्चे खिलौने के लिए जि़द करते हुए नज़र आते है,उस उम्र में मलाला युसुफ़ज़ई मानवधिकारो के लिए लड़ते हुए आ रही है ,जो आज हम सभी के लिए प्रेरणाश्रोत है।

Read More »

जाने भास्कर का इतिहास :- 1958 से आरंभ हुआ दैनिक भास्कर का सफ़र

नवम्बर 2019 में वर्ल्ड एसोसिएशन ऑफ न्यूजपेपर्स एंड न्यूज पब्लिशर्स के रिपोर्ट के अनुसार दैनिक भास्कर को 43 लाख से ज्यादा प्रतियों के साथ दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा अखबार बना ।

Read More »

2022 में पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित भारत के 4 पत्रकार

2022 में भी यह पुरस्कार दिया गया, जिसमें चार भारतीय पत्रकारों का नाम शामिल है, सना इरशाद मट्टू ,अमित दवे और अदनान अबिदी, को कोरोना काल में भारत में फोटोग्राफी के लिए यह अवॉर्ड दिया गया और रायटर्स के फोटोग्राफर दानिश सिद्दीकी को मरणोपरांत यह अवार्ड मिला |

Read More »

didn't find what you are looking for?

search again